हमें इ-मेल द्वारा फोल्लोव करें! और हज़ारो लोगो की तरह आप भी इस ब्लॉग को सीधे इ-मेल द्वारा पढ़े!

आपकी दुनिया, आपके जज़्बात




यह एक यूजर पेज है.…  आप खुद इस पेज के मालिक हैं.… 
बस इस पेज पर हम सब अपनी बात कुछ शब्दों में शेर-शायरी या कविता या अपने जज्बातों को बयाँ करने के किसी भी माध्यम से (किसी भी टॉपिक पर) कमेंट बॉक्स में कहेंगे।।।

शुरुआत मैं कर रहा हूँ…  और उम्मीद करता करता हूँ की, आप इसे आगे ले जायेंगे।।।
धन्यवाद् 



Tags: 1 Line Shayari, 2 Line Shayari, Feelings of Love, Feelings of Happiness, Feelings of Joy, Feelings of Heart

49 comments:


  1. If someone really loves you, They wouldn't let you slip away no matter how hard the situation is...

    ReplyDelete

  2. बस इतना एहसान करना मुझ पर तुम,
    कभी मेरा ख्याल आये तो अपना ख्याल रखना तुम..

    ReplyDelete

  3. कितना मुश्किल है ज़िन्दगी का ये सफ़र,
    खुदा नें मरना हराम किया लोगों ने जीना..

    ReplyDelete

  4. बारिश के मौसम में उनको याद करने की आदत पुरानी है,
    अब की बार सोचा आदत बदल डालें...
    फिर याद आया के आदत बदलने से बारिश नही रूकती...

    ReplyDelete

  5. यकीं नहीं है मगर आज भी ये लगता है,
    मेरी तलाश में शायद बहार आज भी है....
    किसी नज़र को तेरा इंतज़ार आज भी है....

    ReplyDelete
  6. मुझे गुमान था चाहा बहुत ज़माने ने मुझे,
    मैं अज़ीज़ सबको था मगर सिर्फ ज़रुरत के लिए.

    ReplyDelete
  7. ख्वाबो की बातें वो जाने जिनका नींद से रिश्ता हो,
    मैं तो रात गुजारता हुँ चाँद को देखने में...

    ReplyDelete
  8. कितनी अजीब है मेरे अन्दर की तन्हाई भी,
    हजारो अपने है मगर याद तुम ही आते हो...

    ReplyDelete

  9. मासूमियत तुझमे है पर तू इतनी मासूम भी नहीं,
    की मैं तेरे कब्जे में हूँ और तुझे मालूम भी नहीं...
    :)

    ReplyDelete
  10. कभी रस्ते में मिल जाओ तो कतराकर गुज़र जाना,
    हमें इस तरह तकना जैसे पहचाना नहीं तुमने,
    हमारा ज़िक्र जब आये, तो यूँ अनजान बन जाना,
    की जैसे नाम सुन कर भी हमें जाना नहीं तुमनें,

    ReplyDelete
  11. तेरी महफ़िल से उठे तो किसी को खबर तक ना थी,
    तेरा मुड़-मुड़कर देखना हमें बदनाम कर गया..

    ReplyDelete
  12. Woh Humse Khafa Hai hum unse Khafa hain,
    Magar Baat Karne Ko Jee Chahta Hai...

    ReplyDelete
  13. Koi Rooh Ka Talab gaar Mile To Hum Bhi
    Mohabbat Kare
    Yahan Dil To Bohat Milte Hai Magar Koi Dil Se
    Nahi Milta....

    ReplyDelete
  14. Har kisi ke haatho'n bik jane ko taiyaar nahi....!!
    .
    .
    .
    Ye mera dil hai....
    tere shahar ka akhbaar nahi..

    ReplyDelete
  15. Har shaqs hota hai har shaqs ke kabil.....
    har shaqs ko khud ke liye parkha nahi jaata.......

    ReplyDelete
  16. Zaroorat Torr Deti Hai, Gharoor-e-Be'Niazi Ko,
    Na Hoti Koi Majboori To har Banda Khuda Hota…!

    ReplyDelete
  17. उम्र-ऐ-जवानी फिर कभी ना मुस्करायी बचपन
    की तरह..
    मैंने साइकिल भी खरीदी, खिलौने भी लेके देख लिए..

    ReplyDelete
  18. किस किस को याद करें, किस किस पर रोइए |
    आराम बड़ी चीझ है मुंह ढँक कर सोइए...

    ReplyDelete
  19. कितने वर्षो का सफ़र ख़ाक हुआ..
    उसने जब पूछा,
    "कहो कैसे आना हुआ"

    ReplyDelete
  20. Tujhe khone ka hosla nahi mujh mein faqat itna he kehna hai..,

    Yeh duniya mujh ko kho degi agar... tum kho gaye mujh se..;;

    ReplyDelete
  21. बड़े अजीब दुनिया के मेले हैं..
    दिखती तो भीड़ है,
    पर
    चलते सब अकेले हैं...

    ReplyDelete
  22. Naadani ki hadd...... hai jara,,,,, dekho to unhe...

    Mujhe kho kar wo mere jaisa dhoondh rahe hai..

    ReplyDelete
  23. Aankho me base ho "Tum" is kadar ke apni hi "Nazaro" se darr laghta he!

    ReplyDelete
  24. साथ छोड़ने वालों को तो बस एक बहाना चाहिए

    वरना निभाने वाले तो मौत के दरवाज़े तक नहीं छोड़ते||

    ReplyDelete
  25. Dhund Rahe Hai Wo Humko Bhul Jaane Ke Tarike...
    Sochti Hu Khafa Ho Kar Uski Mushkil Aasaan Kar Du...

    ReplyDelete
  26. मुँह कि बात सुने हर कोई,
    दिल के दर्द को जाने कौन..

    आवाज़ों के इस बाज़ार में,
    ख़ामोशी को पहचानें कौन..

    ReplyDelete
  27. कमरे का कैलेन्डर तो बदल जाता है हर साल
    अब के मेरे हालात बदल दे मेरे मौला...

    ReplyDelete
  28. झूठ बोलने का रियाज़ करता हूँ, सुबह और शाम मैं,

    सच बोलने की अदा ने हमसे, कई अजीज़ "यार" छीन लिये।

    ReplyDelete
  29. आग जिधर लगती है लग जाने दे..
    बिगुल कोई भी बजाए अब बज जाने दे..
    जो मुझे खुद को खाक करके बदलनी है सूरत,
    तो फ़िर इस चिता थोडा सज़ जाने दे..

    ReplyDelete
  30. यूँ न झांको ग़रीब के दिल में
    यहाँ हसरतें बेलिबास रहती हैं

    ReplyDelete
  31. वफ़ा है रियासत अपनी, फिर भी हम ग़रीब ठहरे
    बेवफ़ाई का ताज़ पहने कितने हम ने नवाब देखे

    ReplyDelete
  32. सज़ा यह दी कि आँखों से छीन ली नींदें
    क़सूर यह था कि जीने के ख़वाब देखे थे

    ReplyDelete
  33. ज़िन्दगी मैं पहली बार कुछ इस प्रकार का एहसास हुआ ,
    कोई असल मैं इतना दूर होते हुए भी दिल के इतने पास हुआ,
    इस हाथ से उस हाथ को खबर न हुई ,
    और अनजाने मैं ही वह दिल को इतना ख़ास हुआ,
    वह इतना अलग होते हुए भी कुछ अपना लगा,
    समय बितते-बितते एक सच होता हुआ सपना लगा,
    दिन हो या रात,हमेशा उसका ख्याल मेरे मन मैं रहता,
    जब करता मैं उससे बातें,समय झरने जैसा बहता....

    ReplyDelete
  34. इस बार की पतझड बड़ी लम्बी हैं
    ऋतुएँ भी बदली, मौसम भी पलटा
    पक्षी भी चिलाएं, तितलियाँ भी सुनायें
    सूरज लगा बतियाने धरती से
    आती हैं हमेशा अपनी मर्ज़ी से
    इस बार क्या हुआ
    चाँद भी लगा पूछने
    सभी को चिंता सी लगती है
    इस बार की पतझड बड़ी लम्बी है !


    नदियों का बहाव बड़ा तेज है
    हवा का भी हल्का जोश हैं
    पहाड़ों की बूढ़ी चोटियां भी देने लगी उलाहने
    बिना फूलों की डालियां पहुंची मनाने
    बरगद ने भी पंचायत बुलाई
    कहना लगा नहीं आई तो होंगी रुसवाई
    यह बहार तो बड़ी हट्ठी लगती हैं
    इस बार की पतझड बड़ी लम्बी हैं........

    ReplyDelete
  35. चलो फिर कोई, दूसरा शहर तलाश करें,
    यहाँ सब अपने हुए, नया काम तलाश करे ..

    ReplyDelete
  36. मैंने समुन्दर से सीखा है जीने का सलीका,
    चुपचाप से बहना और अपनी मौज में रहना….!

    ReplyDelete
  37. राजेंद्र महाजनThursday, July 16, 2015 8:27:00 am

    तुम्हारी यादों के फूल
    जिन्हे कभी दिल के गुलशन में
    दुल्हन की तरह सजाया था
    आज उन्ही को कुचल मसल कर
    बीच राह में फैंक दिया है
    तुम केवल छलना निकली

    ReplyDelete
  38. राजेंद्र महाजनThursday, July 16, 2015 8:47:00 am

    प्यार कोई समुन्द्र की लहर नहीँ
    जो आकर वापस चली जाये
    प्यार है - रेगिस्तान में पानी की प्यास
    एक अहसास
    एक जुनून
    एक पागल सी वसंती हवा
    जो भूल जाए वो प्यार ही क्या

    ReplyDelete
  39. 7guowenha0921
    puma outlet, http://www.pumaoutletonline.com/
    salomon shoes, http://www.salomonshoes.us.com/
    instyler, http://www.instylerionicstyler.com/
    cheap nba jerseys, http://www.nbajerseys.us.com/
    ysl outlet, http://www.ysloutletonline.com/
    coach outlet store, http://www.coachoutletonline-store.us.com/
    michael kors outlet online, http://www.michaelkorsoutletusa.net/
    nfl jersey wholesale, http://www.nfljerseys-wholesale.us.com/
    pandora outlet, http://www.pandorajewelryoutlet.us.com/
    atlanta falcons jersey, http://www.atlantafalconsjersey.us/
    boston celtics, http://www.celticsjersey.com/
    miami dolphins jerseys, http://www.miamidolphinsjersey.com/
    iphone 6 cases, http://www.iphonecase.name/
    cheap uggs, http://www.uggboot.com.co/
    gucci,borse gucci,gucci sito ufficiale,gucci outlet
    beats by dre, http://www.beats-headphones.in.net/
    oakley sunglasses, http://www.oakleysunglasses-wholesale.us.com/
    ralph lauren polo, http://www.ralphlaurenoutlet.in.net/
    lacoste pas cher, http://www.polo-lacoste-shirts.fr/
    jordan 13, http://www.airjordan13s.com/
    mbt shoes outlet, http://www.mbtshoesoutlet.us.com/
    louis vuitton handbags outlet, http://www.louisvuittonhandbag.us/
    true religion canada, http://www.truereligionjeanscanada.com/
    oakley canada, http://www.oakleysunglassescanada.com/
    jets jersey, http://www.newyorkjetsjersey.us/
    coach outlet store, http://www.coachoutletus.us/
    michael kors uk, http://www.michaelkorsoutlets.uk/
    cardinals jersey, http://www.arizonacardinalsjersey.us/

    ReplyDelete
  40. मेरी हैसियत से ज्यादा मेरे थाली में तूने परोसा है, तु लाख मुश्किलें भी दे दे मालिक, मुझे तुझपे भरोसा है। feeling blessed

    ReplyDelete
  41. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  42. This comment has been removed by a blog administrator.

    ReplyDelete
  43. बचपन में इश्के बुुखार के टीके लगे होते..

    मर्ज न तुमको होता और हम भी बचे होते..!!
    Dippak

    ReplyDelete
  44. बचपन में इश्के बुुखार के टीके लगे होते..

    मर्ज न तुमको होता और हम भी बचे होते..!!
    Dippak

    ReplyDelete

इस पोस्ट पर कमेंट ज़रूर करे..
केवल नाम के साथ भी कमेंट किया जा सकता है..

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...
My facebook ID:Sumit Tomar