हमें इ-मेल द्वारा फोल्लोव करें! और हज़ारो लोगो की तरह आप भी इस ब्लॉग को सीधे इ-मेल द्वारा पढ़े!

Thursday, 23 June 2011

प्रायश्चित करें ताकि हर गलती एक सीख बन जाए

भूल किससे नहीं होती। 
अनजाने में होती है और जानबूझकर भी की जाती है, लेकिन कर्म के साथ भूल का सिलसिला बना ही रहता है। कुछ लोगों को दूसरे बताते हैं तो कुछ स्वयं अपनी भूल पकड़ लेते हैं।

जो अनजाने में गलती कर जाते हैं उनकी अबोध दशा तो माफ की जा सकती है, लेकिन जो जानबूझकर गलत कर रहे हों, उन्हें ऐसी गतिविधि भविष्य में बड़ा नुकसान पहुंचाएगी। जिस क्षण यह पता लगे कि हमसे गलती हो गई है तो फौरन क्षमा मांग ली जाए।

धर्म में इसे ही प्रायश्चित का बोध कहा गया है। प्रायश्चित का भाव केवल अफसोस नहीं होता, बल्कि दोबारा गलत काम न करने का संकल्प भी इसमें छुपा रहता है। गलत काम हो जाने पर जब हम क्षमा मांगने की तैयारी कर रहे होते हैं, तब हमारा मन हमें रोकता है। इसके पीछे हमारा अहं काम कर रहा होता है।

अहंकार को क्षमायाचना करने में बड़ी पीड़ा होती है। अहंकार हमें समझाता है कि गलत काम करने के बाद यदि क्षमा मांगी गई तो लोग आपको कायर, निर्बल, मूर्ख समझेंगे। और यहीं से मनुष्य लगातार गलतियां करते चला जाता है।

हमारे और हमारी सफलता के बीच में ये गलतियां रुकावटें और बाधाएं बनकर स्थायी रूप में बस जाती हैं। गलत के विरुद्ध लड़ने और संघर्ष करने की रुचि समाप्त हो जाती है। इसलिए पहली बात तो गलत करें न और यदि हो जाए तो प्रायश्चित से गुजरें। हो सकता है कि हर गलती एक सीख बन जाए।

10 comments:

  1. kuch had tak asar karti hai ye tippani par insan pehle to mauka chahega ki use prayshchit krne ka mauka mile, me sirf itna kehna chahti hu ki ye bhi waqt ke hatho hi hai.

    insaan galti to khud karta he pr jab baat prayashchit ki hoti hai to woh waqt k hatho lachar he.

    ReplyDelete
  2. reallllllllllly laaaaaajawab

    ReplyDelete
  3. सोनम पंड्याFriday, February 17, 2012 9:23:00 pm

    अगर हमसे कोई गलती हुयी भी है तो ये अच्छे से जान लेना चाहिए की वक़्त हमें कुछ सिखाना चाहता है
    और वो वक्त चाहे हमें कुछ दे या न दे पर अनुभव ज़रूर देगा.
    शेयर करने के लिए धन्यवाद्.

    ReplyDelete
  4. कुछ लोग अपनी पहुंच से निभ जाते हैं, यह सच है परन्तु अधिकतर लोग मानवीय अनुकम्पा का लाभ उठाते हैं। गलती किससे नहीं होती ? अब आदमी तो आदमी ही है और आदमी ही रहेगा। जाने अनजाने उससे भूल भी होती ही रहेगी। कहते हैं कि एकाध भूल तो भगवान भी माफ कर देता है।

    ReplyDelete
  5. 7guowenha0921
    puma outlet, http://www.pumaoutletonline.com/
    salomon shoes, http://www.salomonshoes.us.com/
    instyler, http://www.instylerionicstyler.com/
    cheap nba jerseys, http://www.nbajerseys.us.com/
    ysl outlet, http://www.ysloutletonline.com/
    coach outlet store, http://www.coachoutletonline-store.us.com/
    michael kors outlet online, http://www.michaelkorsoutletusa.net/
    nfl jersey wholesale, http://www.nfljerseys-wholesale.us.com/
    pandora outlet, http://www.pandorajewelryoutlet.us.com/
    atlanta falcons jersey, http://www.atlantafalconsjersey.us/
    boston celtics, http://www.celticsjersey.com/
    miami dolphins jerseys, http://www.miamidolphinsjersey.com/
    iphone 6 cases, http://www.iphonecase.name/
    cheap uggs, http://www.uggboot.com.co/
    gucci,borse gucci,gucci sito ufficiale,gucci outlet
    beats by dre, http://www.beats-headphones.in.net/
    oakley sunglasses, http://www.oakleysunglasses-wholesale.us.com/
    ralph lauren polo, http://www.ralphlaurenoutlet.in.net/
    lacoste pas cher, http://www.polo-lacoste-shirts.fr/
    jordan 13, http://www.airjordan13s.com/
    mbt shoes outlet, http://www.mbtshoesoutlet.us.com/
    louis vuitton handbags outlet, http://www.louisvuittonhandbag.us/
    true religion canada, http://www.truereligionjeanscanada.com/
    oakley canada, http://www.oakleysunglassescanada.com/
    jets jersey, http://www.newyorkjetsjersey.us/
    coach outlet store, http://www.coachoutletus.us/
    michael kors uk, http://www.michaelkorsoutlets.uk/
    cardinals jersey, http://www.arizonacardinalsjersey.us/

    ReplyDelete
  6. This comment has been removed by a blog administrator.

    ReplyDelete
  7. This comment has been removed by a blog administrator.

    ReplyDelete

इस पोस्ट पर कमेंट ज़रूर करे..
केवल नाम के साथ भी कमेंट किया जा सकता है..

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...
My facebook ID:Sumit Tomar