हमें इ-मेल द्वारा फोल्लोव करें! और हज़ारो लोगो की तरह आप भी इस ब्लॉग को सीधे इ-मेल द्वारा पढ़े!

Tuesday, 17 May 2011

ज़िन्दगी - एक सवाल!




रूकती ज़िन्दगी..
थमती  ज़िन्दगी..

कभी  बाढ़,
कभी  तूफ़ान,
कभी  सुनामी  के  नाम  होती  ज़िन्दगी..


ऊंची  इमारतों  से  गिरती  ज़िन्दगी..

खामोश  जुबां  से  हर  ग़म  को  सहती  ज़िन्दगी..

धोखे  की  आग  में
ध-धकती ज़िन्दगी..


फूटपाथ  पर  गाड़ियों  तले मसलती  ज़िन्दगी..

पेट  की  आग बुझाने  को  मचलती  ज़िन्दगी..


बिखरती  ज़िन्दगी ,
सिसकती  ज़िन्दगी ,
सिक्को  की  तान  पर  थिरकती  ज़िन्दगी ..

फैसले  के  इंतज़ार  में
अदालत  के  बाहर ,
मुट्ठी  में  रेत-सी  फिसलती  ज़िन्दगी..


अस्पतालों  की  कतारों  में  पिघलती  ज़िन्दगी,
नाम  पे  दवा  के  खुद  को  छलती  ज़िन्दगी..


मायूस  ज़िन्दगी,
निराश  ज़िन्दगी,
अमृत  की  आढ़  में  ज़हर  पीती  ज़िन्दगी..

मौत  से भी  बत्तर  हाल  में  जीती  ज़िन्दगी..

माँ  की  पलकों  से  लहू  बनकर  बहती  ज़िन्दगी..

बच्चे  की  तरसती  निगाहों  में  रहती  ज़िन्दगी..

मजबूर  बदन  पे  किसी  के  हाथों  की
सर-सराहत  ज़िन्दगी..

भूख  और  प्यास  से  निकली हुई कराहट  ज़िन्दगी..

बदनाम  ज़िन्दगी,
बाद -हाल  ज़िन्दगी,
ख़ामोशी  में  भरी
एक  चीख  ज़िन्दगी..

मदहोश  ज़िन्दगी,
बेहोश  ज़िन्दगी,
लाजवाब  कर  गयी  हर  सवाल  ज़िन्दगी.. 
$

ज़िन्दगी के बारे में अपनी सोच ज़रूर कमेन्ट करे !!!!!!

24 comments:

  1. Zindagi Kya Hai? Khud Se Pooch Leta Hoon,

    Shayar Ki Nazar Se, Ek Haseen Ghazal Hai;

    Musafir Ke Khadmon Se, Door Bohat Manzil Hai,

    Ashiq Ke Khwabon Ka Toota Mahal Hai,

    To Kabhi…

    Waqt Ka Behta Hua Paani Hai,

    Aas Mein Guzarti Huyi Jawani Hai,

    Khamosh Kalam Se Likhi Kahani Hai,

    To Kabhi…

    Mehndi Se Rachi Hatheli Hai,

    Saath Chalti Saheli Hai,

    Zindagi Ek Paheli Hai.....

    ReplyDelete
  2. kasams se. is se behatar koi shabd nahi honge zindagi ko paribhashit karne ke liye

    ReplyDelete
  3. Yeh Zindagi Kya Hai
    Kya Iski Haqeeqat Hai

    Kya Yeh Doulat Hai
    Doulat Hai To Kya Iski Keemat Hai

    Kya Yeh Mohabbat Hai
    Mohabbat Hai To Kya Iski Izzat Hai

    Kya Yeh Baghawat Hai
    Baghawat Hai To Kya Iski Shohrat Hai

    Kya Yeh Nafrat Hai
    Nafrat Hai To Kya Iski Zaroorat Hai

    Kya Yeh Soughaat Hai
    Soughaat Hai To Kya Iski Lizzat Hai

    Kya Yeh Sharafat Hai
    Sharafat Hai To Kya Iski Banawat Hai

    Kya Yeh Chahat Hai
    Chahat Hai To Kya Iski Shiddat Hai

    Kya Yeh Mehnat Hai
    Mehnat Hai To Kya Iski Sahoolat Hai

    Kya Yeh Dosti Hai
    Dosti Hai To Kya Iski Milawat Hai

    Kya Yeh Mehfil Hai
    Mehfil Hai To Kya Iski Barkat Hai

    Kya Yeh Rasta Hai
    Rasta Hai To Kya Iski Manzil Hai

    Kya Zindagi Dard Hai
    Dard Hai To Kya Guzarna Mushkil Hai

    Kya Yeh Khushi Hai
    Khushi Hai To Kyon Palkon Pe Chilmil Hai

    Kya Zindagi Hum Hain
    Hum Hain To Kya Humari Ibtida Hai

    Kya Matti Humari Ibtida Hai
    Matti Humari Ibtida-O-Inteha Hai To....

    To....
    To... Kya....
    Kya Humein Yeh Yaad Hai..
    Jo Humein Yeh Yaad Nahin
    To Kya Hum Abaad Hoke Bhi Shaad Hain..

    Kya Yeh Ehsaas Hai
    Ehsaas Hai To Kya Yeh Khaas Hai !!!

    !!!!Main Bataon Zindagi Kya Hai
    Zindagi Kuch Nahin Bas Ek Sans Hai!!!!

    ReplyDelete
  4. Yeh zindagi bari ajeeb si Kabhi gulzar si kabhi bezar si

    Kabhi khushi hamaray sath sath Kabhi gammon ki barsat si

    Yeh zindagi bari ajeeb si Kabhi tofanon main bhi hain rastay

    Kabhi manzilon ka pata nahi Kabhi do kadam pay zindagi

    Kabhi saddeuon tak intizar si Yeh zindagi bari ajeeb si

    Kabhi her pal emtihan hai Kabhi bin mangay Inaam

    hai Kabhi kuch nahi Kabhi sab kuch si

    Yeh zindagi bari ajeeb si Kabhi gulzar si kabhi bezar si

    ReplyDelete
  5. अच्छी, मंदी जैसी भी है "ज़िन्दगी"
    तोहफे में हम को मिली है "ज़िन्दगी"


    मुश्किलें भी ख़त्म हो ही जायेंगी,
    सीख हर पल दे रही है "ज़िन्दगी"


    दिल को भर दे जागती उम्मीदों से ,
    हर सुबह ताज़ा, नयी है "ज़िन्दगी "


    शुक्र तेरा,
    ऐ खुदा हर घड़ी हर हाल में ,
    खूबसूरत हमको दी है ज़िन्दगी...

    $


    "Life's So Beautiful,
    Thank You God.."
    __________________

    ReplyDelete
  6. kya khub banaya hai zindagi ka safarnaama

    ReplyDelete
  7. अमित श्रीवास्तवTuesday, April 03, 2012 1:42:00 pm

    वाह वाह
    मौत तो नाम से बदनाम है
    वरना
    तकलीफ तो ज़िन्दगी भी कम नहीं देती

    ReplyDelete
  8. ये ज़िन्दगी क्या है ? एक अजीब सा सवाल है !
    कैसे समझे और कैसे जिए कोई
    सबका अपना - अपना ख्याल है !
    किसी की नज़र में,ये सिर्फ एक जाम है !
    किसी की निगाह में,ये गम की एक शाम है !
    कोई कहता है,ये शायर का एक ख़्वाब है !
    कोई समझे,ये मौत के ख़त का जवाब है !
    कोई ढूढता है इसे छोटी छोटी खुशियों में
    कोई महफ़िलों में इसे तलाशता है !
    है बोझ पत्थर सा किसी के सीने पर
    किसी की झोली में खिला गुलाब है !
    कोई जीता है इसे दीये की तरह जल कर
    कोई दिलों को जला कर दिन गुज़ारता है !
    गुज़ारता है हर पल,कोई समझ कर नसीब इसे
    कोई चुनौतिओं से लड़ कर नसीब बनता है !
    पैगाम है कहीँ ये दर्द का ,
    तो खुशियों की कहीँ ये झंकार है !
    कैसे समझे और कैसे जिए कोई
    सबका अपना,अपना ख्याल है !

    ReplyDelete
  9. ज़िन्दगी कुछ और नहीं
    एक सवाल है पुराना
    जवाब जिसका मिलता नहीं
    फिर भी अंत तक सुलझाना |

    अच्हे समय का साथ भी
    बुरे के साथ ढल गया
    इस मोड़ से उस मोड़ तक
    धीरे धीरे सब बदल गया |

    कुछ साथ पीछे रह गए
    थोड़े फासले उनसे बड़े
    अकेले ही नए मोड़ पर
    वो आज दूर हमसे खड़े |

    ये ज़िन्दगी की दौड़ मे
    सब कुछ यू बदलता गया
    कोई जीत के आगे रुक गया
    कोई हार के भी चलता गया |

    सब साथ यहाँ निभाते दिखते
    फिर अंत मे क्यों रह जाता एक है
    है ज़िन्दगी के जवाब अलग
    पर सवाल सबका क्यों एक है ?

    ReplyDelete
  10. """क्या बस इतनी सी है यह ज़िन्दगी?""
    (एक सवाल, जो ज़िन्दगी बदल दे... )

    बचपन से हमें रेस का घोडा बनाने की कवायत शुरू हो जाती है । फिर कभी अच्छी ज़िन्दगी के नाम पर, कभी सफलता के नाम पर, और कभी अमीरी के नाम पर, हम से दौड़ (रेस) लगवाए जाते हैं । इन सब के बीच अच्छे इनसान बनना तो अगली ज़िन्दगी के लिए ही बाकी रह जाता है । क्या इन सब से वाकई में ज़िन्दगी के सारे मकसद, पूरे होते हैं, सारी ख़ुशी मिलजाती है? या फिर हम परदे की ज़िन्दगी को ही सही मान बैठे हैं?
    "
    रोटी-कपड़ा-मकान-संसार तो ज़िन्दगी के ज़रुरत हैं । हम उन्हें ही मंजिल बना बैठे हैं । इस में सारा गलती हमारी खुद की नहीं है, हालात भी मायने रखती हैं । आज की ज़िन्दगी में बस इन चरों को पाने और सम्हालने में ही ज़िन्दगी या उम्र के चरों पड़ाव (ब्रह्मचर्य, गृहस्त, वानप्रस्थ और संन्यास) निकल जाते हैं । या फिर हम ने खाना-पीना- मौज मस्ती करना, इसी को ज़िन्दगी मानलिया है ? तब एक सवाल उभर कर आ जाता है, वह है "क्या बस इतनी सी है ज़िन्दगी?" यह सवाल हर किसी के जेहन में कभी न कभी तो आया ही होगा । इस सवाल का जवाब ढूंडना तो दूर की बात है, हम इस का सामना ही नहीं करना चाहते हैं । बस इस बड़ी सी दुनिया में खुद का एक छोटा सा आशियाँ (दुनिया) बनाकर उन दीवारों में जीने की आदत डाल ली है हम ने ।

    "न आना हमारे हाथ है, न यहाँ से जाना, न ही फिर से आने का भरोसा, वह भी इनासान की चोली में । कहते हैं इंसान की चोली बड़ी ही दुर्लभ होती है । तो, हमारे इंसानियत के कौम में पैदा होना कुछ तो बात है । वह क्या बात है? इस का जवाब हर किसी को खुद ही ढूंडनि होगी । ""क्या बस इतनी सी है यह ज़िन्दगी?"" इस सवाल का जवाब ढूंडना और उस राह पर मंजिल तक चलपडना वाही असली ज़िन्दगी का मायना है । सांस और धड़कनों का क़र्ज़ तो सभी चुकाते ही हैं मगर जिंदगी का क़र्ज़ कौन चुकाते हैं?

    इस का जवाब ढूंडने के लिए हालात के साथ अन्दर (आत्मा) में उतरने की जरूरत है । कुछ सवालों के जवाब आदमी या दुनिया नहीं दे सकते है । गर दे भी दे तो उन जवाबों पर हमारे मन में और सवाल उठने की आसार बनी रहती है । इसी लिए इस सवाल का जवाब हमें खुद ढूंडना होगा । जब तक जवाब नहीं मिलाता, तब तक हमें हमेशा, दिन-रात इस सवाल को खुद से पूछना होगा । जवाब मिलेगा, ज़रूर मिलेगा । जब मिलेगा वहीँ से हमारी ज़िन्दगी कोई और मोड़ लेगी, जो निःस्वार्थ ज़िन्दगी होगी । जहाँ सुकून, हरियाली और जीवन धन्यता का भाव होगा । एक हद के बाद निःस्वार्थ ज़िन्दगी ही असली ज़िन्दगी बनजाती "

    तो चलो हो जाए सामना इस सवाल से ?

    ReplyDelete
  11. kya khoobh likha hai kisi ne "Zindagi kuch nahi bas ek saans hai"

    ReplyDelete
  12. jjidgi socho to ek sawaal b
    or gar smjho to ek jawab b.........

    ye umdati, khilkhilati, chahati, massom si,
    ye bholepan ki ek
    mishaal si...
    pyar se bhari,
    ek awaaz si........or ek kkhubsurat se jawab si....


    par ajeeb se ittefak si,


    badalte hue jajbaat si,
    khusi se udaas ki,
    bichadne walo ki yaad si,
    pal pal rulati jajbaat si,
    khud ki saanso se takrar si....or ek ajeeb se sawaal si......


    yahi hai jindgi....
    ek soche hue sawaal
    or smjhe or suljhe hue jawaab si.....


    or bade hi iteefak si..... yahi to hai jindgi.

    ReplyDelete
  13. This comment has been removed by a blog administrator.

    ReplyDelete
  14. 7guowenha0921
    puma outlet, http://www.pumaoutletonline.com/
    salomon shoes, http://www.salomonshoes.us.com/
    instyler, http://www.instylerionicstyler.com/
    cheap nba jerseys, http://www.nbajerseys.us.com/
    ysl outlet, http://www.ysloutletonline.com/
    coach outlet store, http://www.coachoutletonline-store.us.com/
    michael kors outlet online, http://www.michaelkorsoutletusa.net/
    nfl jersey wholesale, http://www.nfljerseys-wholesale.us.com/
    pandora outlet, http://www.pandorajewelryoutlet.us.com/
    atlanta falcons jersey, http://www.atlantafalconsjersey.us/
    boston celtics, http://www.celticsjersey.com/
    miami dolphins jerseys, http://www.miamidolphinsjersey.com/
    iphone 6 cases, http://www.iphonecase.name/
    cheap uggs, http://www.uggboot.com.co/
    gucci,borse gucci,gucci sito ufficiale,gucci outlet
    beats by dre, http://www.beats-headphones.in.net/
    oakley sunglasses, http://www.oakleysunglasses-wholesale.us.com/
    ralph lauren polo, http://www.ralphlaurenoutlet.in.net/
    lacoste pas cher, http://www.polo-lacoste-shirts.fr/
    jordan 13, http://www.airjordan13s.com/
    mbt shoes outlet, http://www.mbtshoesoutlet.us.com/
    louis vuitton handbags outlet, http://www.louisvuittonhandbag.us/
    true religion canada, http://www.truereligionjeanscanada.com/
    oakley canada, http://www.oakleysunglassescanada.com/
    jets jersey, http://www.newyorkjetsjersey.us/
    coach outlet store, http://www.coachoutletus.us/
    michael kors uk, http://www.michaelkorsoutlets.uk/
    cardinals jersey, http://www.arizonacardinalsjersey.us/

    ReplyDelete
  15. NIce Poem!!! n Nice blog too!!!
    Please do visit to my blog!

    http://jivanmantra4u.blogspot.in

    Thanks!!!

    ReplyDelete
  16. This comment has been removed by a blog administrator.

    ReplyDelete
  17. This blog is so nice to me. I will continue to come here again and again. Visit my link as well. Good luck
    http://www.jualobataborsiherbal.com/ obat aborsi
    http://caramenggugurkankandungan.info/ cara menggugurkan kandungan
    http://www.jualobataborsiherbal.com/cara-menggugurkan-kandungan/ cara menggugurkan kandungan
    http://jualobatpenggugurkandungan.net/ obat penggugur kandungan
    http://obataborsi59.com/ obat aborsi
    http://obattelatdatangbulan.info/ obat telat datang bulan
    http://klinikobataborsi.com/ jual obat aborsi

    ReplyDelete
  18. Congratulations on your blog ! And most importantly, thank you for that content which always makes me happy !!
    http://tandatandakehamilan.net/cara-cepat-dan-selamat-menggugurkan-kandungan/ cara menggugurkan kandungan

    ReplyDelete

इस पोस्ट पर कमेंट ज़रूर करे..
केवल नाम के साथ भी कमेंट किया जा सकता है..

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...
My facebook ID:Sumit Tomar